नक्सल प्रभावित बस्तर में पुलिसिंग समझने आए 40 विदेशीUpdated: Thu, 12 Oct 2017 12:48 AM (IST)

इस दौरान सीईओ जिला पंचायत रीतेश अग्रवाल ने उन्हें क्षेत्र की भौगोलिक जानकारी दी।

जगदलपुर। इजराइल, दक्षिण अफ्रीका, फिजी, वेस्टइंडीज, श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया एवं मलेशिया आदि देशों 40 युवक-युवतियों ने बुधवार को पुलिस कोआर्डीनेशन सेंटर में बस्तर की पुलिसिंग समझी। साथ ही तीन दिवसीय दौरा कार्यक्रम के तहत वे यहां की प्राकृतिक सुंदरता, आदिवासी संस्कृति, विकास संबंधी गतिविधियों का अवलोकन भी करेंगे।

विदेश मंत्रालय द्वारा भारतीय मूल के विदेशों में रहने वाले 18 एवं 30 वर्ष आयु वर्ग के युवक- युवतियों को देश की संस्कृति, कला एवं विकास कार्यों से परिचित कराने के लिए इस अध्यययन भ्रमण का आयोजन किया गया है।

अध्ययन दल के सदस्य मंगलवार को पुलिस कोआर्डीनेशन सेंटर पहुंचे। यहां वरिष्ठ अधिकारियों से सौजन्य मुलाकात की। दल को डीआईजी दक्षिण बस्तर रेंज सुंदरराज पी द्वारा बस्तर में स्थानीय पुलिस बल एवं केंद्रीय अर्द्घसैनिक बल द्वारा क्षेत्र की सुरक्षा एवं विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों से अवगत कराया गया।

कठिन परिस्थितियों में बस्तर के सुरक्षा बलों द्वारा की जा रही सराहनीय कार्यों की दल के सदस्यों ने तारीफ की। इस दौरान सुंदरराज ने लोकल पुलिसिंग, सामुदायिक पुलिसिंग के बारे में भी जानकारी दी। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत रीतेश अग्रवाल ने उन्हें क्षेत्र की भौगोलिक जानकारी दी।

इस अवसर पर विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी सुशील प्रसाद, एएसपी लखन पटले समेत पुलिस बल व छत्तीसगढ़ पर्यटन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। भ्रमण में आए दल के सदस्य आगामी दो दिनों में क्षेत्र के पर्यटन स्थलों, शिक्षा केन्द्र हाट-बाजार एवं अन्य जगहों का भ्रमण कर अनुभव प्राप्त करेंगे।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.