Live Score

कोलकाता 7 विकेट से जीता मैच समाप्‍त : कोलकाता 7 विकेट से जीता

Refresh

अखबार बांटकर पढ़ाई की पढ़ाई, मेरिट लिस्ट में आया नामUpdated: Fri, 21 Apr 2017 07:56 PM (IST)

अलसुबह अखबार बांटने वाला दुर्ग का लक्की देवांगन सीजी बोर्ड की मेरिट में पांचवें स्थान पर आया है।

दुर्ग। अलसुबह अखबार बांटने वाला दुर्ग का लक्की देवांगन सीजी बोर्ड की मेरिट में पांचवें स्थान पर आया है। वहीं श्रेष्ठा गुप्ता ने दसवें क्रम में जगह बनाई है। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने शुक्रवार को 10वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम घोषित किया। लक्की देवांगन (97 प्रतिशत) शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला तितुरडीह का छात्र है। वहीं श्रेष्ठा गुप्ता (96.17 प्रतिशत) महावीर उच्चतर माध्यमिक शाला की छात्रा है।

लक्की देवांगन के पिता डेरहाराम देवांगन बढई का काम करते हैं और उसकी माता कल्याणी देवांगन मोहल्ले में घूम-घूम कर सब्जी बेचती हैं। परिवार की आर्थिक हालत अच्छी नहीं होने की वजह से लक्की अपनी पढ़ाई के लिए स्वयं सुबह अखबार बांटने का काम करता है और इससे मिले पैसे से शिक्षण सामग्री जुटाता था। लक्की ने बताया कि हर रोज सुबह 5 बजे वह अखबार लेकर साइकिल से पाठकों के घरों में अखबार पहुंचाता है। तंगी के हालात की वजह से न ही कोई कोचिंग ली और न ही ट्यूशन की।

होनहार दीदी के नक्शे कदम पर श्रेष्ठा ने पाई सफलता

श्रेष्ठा गुप्ता ने अपनी बडी बहन के नक्शे कदम पर चलकर 10वीं की मेरिट में सफलता अर्जित की है। उसकी ब डी बहन श्रुति गुप्ता ने पिछले साल 12वीं की मेरिट में स्थान बनाया था। वह उसे घर पर ही कोचिंग देती रही। मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाली श्रेष्ठा के पिता वीररत्न गुप्ता बेमेतरा जिले के राका झलमला गांव में इलेक्ट्रिकल दुकान चलाते हैं और वहां खेती-किसानी भी देखते हैं। यहां वह अपनी माता संगीता गुप्ता के साथ रहती है।

जिले का रिजल्ट 63.27 प्रतिशत, बेटियां आगे

दुर्ग जिले का रिजल्ट भी इस साल बढ़ा है। पिछले दो साल की अपेक्षा इस बार ज्यादा विद्यार्थियों ने सफलता अर्जित की है। परिणाम 63.27 फीसदी रहा। इस बार भी बेटियां आगे रही। लड़कों के मुकाबले 67.07 प्रतिशत बेटियों ने सफलता पाई, जबकि 58.84 प्रतिशत लड़के सफल हो पाए।

अटपटी-चटपटी

  1. 24 गांव में हेलिकॉप्टर से न्योता देंगे कम्प्यूटर बाबा

  2. वो दृष्टिहीन है और नाक से बांसुरी बजाकर कमाता है रोजीरोटी

  3. साहब! मेरे लिए कन्या ढूंढ़ दो, मुझे शादी करनी है

  4. डेढ़ साल का बेटा ढूंढ़ रहा मां को, बिलासपुर में पति को था इंतजार

  5. भागवत कथा सुनाकर मास्टर गरीब बच्चों के लिए जुटा रहे धन

  6. बेटे की कमी पूरी करने के लाते हैं घर जमाई

  7. दुनिया को दिव्यांगों का दम दिखाने, तालाब में खुद सीखा तैरना

  8. बेटे को किसान बनाने मां ने छोड़ी 90 हजार प्रतिमाह की नौकरी

  9. सोनू निगम को लेकर पोस्ट पर विवाद, चाकू से हमला

  10. मौत ने दूसरी बार दिया धोखा: पटरी पर लेटा, ड्राइवर ने रोकी ट्रेन

  11. पीएम को ट्वीट करने के बाद बैंक ने मानी गलती, लौटाए रुपए

  12. गाय के गोबर को बना दिया ड्राइंग रूम की शोभा, देशभर में मांग

  13. CGBSE 10th Result 2017 : बिना कोचिंग के विनीता बनीं टॉपर

  14. मिला सहारा तो लाचार जिंदगी की गाड़ी चल पड़ी खुशियों की राह

  15. पुलिस पीड़ा पर कांस्टेबल की कविता, मिले 25 हजार से ज्यादा लाइक्स

  16. कभी सोचा है कैसे हुई शेविंग या वैक्सिंग की शुरुआत, यहां जानिए

  17. महिला ने कराई ब्रेस्ट सर्जरी, बड़े की जगह हो गए चौकोर

  18. इस कैफे में आप कुछ भी खाएं, बिल में आएंगे जीरो रुपए

  19. दंपती ने डीएनए टेस्ट कराया तो पता चला जुड़वां भाई-बहन हैं

  20. 'राष्ट्रपति गाय चराने तो प्रधानमंत्री गया है घास काटने'

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.