पूछताछ से डरा छात्र, थाने से आने के बाद लगाई फांसीUpdated: Mon, 09 Oct 2017 07:48 PM (IST)

पुलिस थाने में पूछताछ के लिए बुलाया गया कक्षा नौ का छात्र इतना डर गया कि उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

धमतरी। पुलिस थाने में पूछताछ के लिए बुलाया गया कक्षा नौ का छात्र इतना डर गया कि उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना अर्जुनी थाना क्षेत्र के ग्राम पोटियाडीह की है। छात्र के पिता ने आरोप लगाया है कि उसके बेटे ने पुलिस के डर से फांसी लगाई।

अर्जुनी थाना क्षेत्र के पोटियाडीह निवासी घनश्याम साहू (43) ने बताया कि गांव में दो लड़कों के बीच मारपीट हुई थी। पुलिस ने दोनों लड़कों को 8 अक्टूबर को थाने बुलाया था। उनके साथ बेटा रेखराम भी गया था। शाम को पुलिस ने उन्हें गांव लाकर छोड़ा था। 5-10 मिनट तक घर में रहने के बाद रेखराम कहीं चला गया।

काफी देर तक जब नहीं लौटा तो खोजबीन शुरू की। रात 1.30 बजे गांव के स्टेडियम में एक पेड़ से फांसी पर उसका शव लटका मिला। घनश्याम ने आरोप लगाया कि पुलिस प्रताड़ना के डर के चलते बेटे ने फांसी लगाई। मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। वहीं दूसरी ओर गांव में यह भी चर्चा है कि चोरी के किसी मामले में संलिप्तता की बात उजागर होने से रेखराम ने ऐसा कदम उठाया।

इनका कहना है

जिला अस्पताल में परिवारवालों के सामने पोस्टमार्टम कराया गया। इसकी वीडियोग्राफी भी हुई है। शरीर पर चोट के निशान नहीं मिले हैं। पूरी रिपोर्ट आने के बाद ही मामला साफ हो पाएगा।

गोविंद सिन्हा, नायब तहसीलदार

छात्र के खिलाफ थाने में कोई अपराध दर्ज नहीं है। उसे तो थाने बुलाया भी नहीं गया था। वह अपने दोस्तों के साथ आ गया था। बारिश के चलते उन्हें गांव तक छोड़ा भी गया। पुलिस प्रताड़ना की बात गलत है। उच्चाकिारियों के निर्देश पर मजिस्ट्रेटी जांच कराई जा रही है।

-यू टंडन, अर्जुनी थाना प्रभारी

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.