700 रुपए के कारण चली गई सरपंच की कुर्सीUpdated: Fri, 19 May 2017 10:17 AM (IST)

महज 700 रुपए के लिए सीमावर्ती बालोद जिले के गुरूर ब्लॉक के ग्राम पंचायत पेंडरवानी के सरपंच को अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी।

धमतरी/पुरूर। महज 700 रुपए के लिए सीमावर्ती बालोद जिले के गुरूर ब्लॉक के ग्राम पंचायत पेंडरवानी के सरपंच को अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी। एक ग्रामीण ने नल जल योजना के तहत नल कनेक्शन लगाने के लिए 700 रुपए सरपंच के पास जमा कराया था, लेकिन बाद में सरपंच राशि मिलने की बात से मुकर गया।

इसके बाद पंचायत में बैठक हुई। पंचों ने अविश्वास प्रस्ताव ला दिया। ग्राम पंचायत पेंडरवानी के सरपंच रामकुमार पर नल-जल योजना की राशि का हिसाब नहीं देने का आरोप लगाकर अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था, जिससे नाराज ग्राम पंचायत के सभी 20 पंचों ने अविश्वास प्रस्ताव का आवेदन एसडीएम को दिया था।

जिस पर अविश्वास प्रस्ताव के लिए 17 मई की तिथि निर्धारित की गई थी। पीठासीन अधिकारी नायब तहसीलदार गुरूर हनुमंत श्याम ने जनपद पंचायत गुरूर के सभा कक्ष में सम्मेलन आयोजित किया, जिसमें सरपंच सहित सभी पंचों ने अपना तर्क रखा, अतंत: पंचों की मांग पर मतदान की प्रक्रिया दोपहर 12 बजे प्रारंभ हुई।

सभी 20 पंचों ने मतदान किया अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष मे 17 मत एवं विपक्ष मे सरपंच सहित 4 मत मिले। मतदान के बाद पीठासीन अधिकारी नायब तहसीलदार हनुमंत श्याम ने अविश्ववास प्रस्ताव पारित होने की घोषणा की।

पांच माह में तीसरा मामला

गुरूर विकासखंड में 5 माह में अविश्वास प्रस्ताव के चलते अब तक तीन सरपंचों ने अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी है। 19 जनवरी को ग्राम पंचायत हितेकसा में पंचो ने सरंपच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया था। 6 फरवरी को ग्राम पंचायत अर्जुनी में अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। दोनों ही अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गए।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.