फोर्स को देख हथियार छोड़ भागे नक्सली, 12 बोर बंदूक और ड्रिल मशीन बरामदUpdated: Sat, 08 Apr 2017 07:27 PM (IST)

सुकमा जिले के बार्डर में अरनपुर थाना क्षेत्र के छोटेहेड़मा जंगल में फोर्स को देखकर नक्सली हथियार छोड़ भागे।

दंतेवाड़ा। सुकमा जिले के बार्डर में अरनपुर थाना क्षेत्र के छोटेहेड़मा जंगल में फोर्स को देखकर नक्सली हथियार छोड़ भागे। मौके से एसटीएफ की टीम ने 12 नग 12 बोर बंदूक, एक ड्रिल मशीन सहित पिट्टू और अन्य सामग्रियां बरामद की है। वहीं एक महिला सहित तीन संदिग्धों को गिरफ्तारी भी की गई है। यह कार्रवाई एसटीएफ टीम की है।

दंतेवाड़ा-सुकमा बार्डर में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर एसटीएफ की टीम अरनपुर थाना क्षेत्र के जंगल में बीती रात निकली थी। शनिवार की दोपहर करीब 12 बजे छोटेहेड़मा के जंगल में टीम पहुंची तो नक्सलियों ने फोर्स पर फायरिंग कर दी। फोर्स को भारी पड़ता देख नक्सली वहां से भाग निकले।

इसके बाद फोर्स ने सर्चिंग के दौरान मौके से दो नग 12 बोर बंदूक, ड्रिल मशीन, पिट्टू सहित नक्सल साहित्य और अन्य सामाग्री बरामद की है। बताया जा रहा है टीम देर शाम अरनपुर पहुंचेगी। समाचार लिखे जाने तक फोर्स जंगल में थी। बताया जा रहा है कि सर्चिंग के दौरान फोर्स ने जंगल से एक महिला सहित दो अन्य लोगों को संदेह के आधार पर हिरासत में लिया है। माना जा रहा है पूछताछ में उनसे महत्वपूर्ण जानकारियों मिलेंगे।


जगदलपुर से पहुंची फोर्स

पुलिस सूत्रों के अनुसार आपरेशन में जगदलपुर से एसटीएफ की टीम जंगल में पहुंची है। यह टीम स्थानीय जवानों के साथ चार अलग-अलग टुकड़ियों में बंटकर एरिया का घेराबंदी किया है। बताया जा रहा है इस इलाके में नक्सलियों के मलांगिर एरिया कमेटी सक्रिय है।

यहां अभी नक्सलियों के बड़ेनेताओं की मौजूदगी है और बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। सूत्रों का कहना है कि बरामद सामग्रियों की मात्रा अधिक होने से कुछ सामान को मौके पर ही जला दिया गया। वहीं हथियार, ड्रिल मशीन आदि महत्वपूर्ण सामग्रियों को सीधे जगदलपुर ले जाया जाएगा।

इनका कहना है

अरनपुर थाना क्षेत्र में एसटीएफ और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। मौके से 12 बोर बंदूक, ड्रिल मशीन आदि बरामद हुए है। फोर्स अभी जंगल में है। इसलिए विस्तृत जानकारी नहीं मिल पा रही है।

-जीएन बघेल, एएसपी, नक्सल आपरेशन

-------------------------------

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.