जांच के नाम पर आदिवासी छात्राओं से जवानों ने की छेडछाड़Updated: Mon, 07 Aug 2017 07:37 PM (IST)

कुआकोंडा थाना क्षेत्र के एक कन्या आश्रम की आदिवासी छात्राओं के साथ कुछ वर्दीधारियों के छेडछाड़ का मामला सामने आया है।

दंतेवाड़ा। जिले के कुआकोंडा थाना क्षेत्र के एक कन्या आश्रम की आदिवासी छात्राओं के साथ कुछ वर्दीधारियों के छेडछाड़ का मामला सामने आया है। आश्रम अधीक्षिका की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात वर्दीधारियों के खिलाफ धारा 354 व पास्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया है। इधर जिला प्रशासन ने पांच सदस्यीय जांच टीम बनाकर छात्राओं के बयान लिए हैं।

जानकारी के मुताबिक क्षेत्र के एक पोटाकेबिन में 31 जुलाई को सीआरपीएफ जवानों को राखी बांधने का कार्यक्रम था। इसका टीवी चैनलों में रक्षाबंधन के दिन सोमवार को प्रसारण किया गया। विशेष सुरक्षा और वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में यह कार्यक्रम हुआ।

अधीक्षिका द्रोपदी सिन्हा के मुताबिक कार्यक्रम के दौरान कुछ छात्राएं टॉयलेट की ओर गई तो उनके पीछे कुछ जवान भी लग गए। तलाशी के बहाने जवानों ने टॉयलेट के भीतर छात्राओं के साथ छेडछाड़ की और धमकी देकर चले गए।

छात्राओं ने रात में इसकी जानकारी दी, जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना देने के बाद 1 अगस्त को कुआकोंडा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई। कुआकोंडा थानेदार दयाकिशोर बरूआ ने बताया कि अधीक्षिका के आवेदन पर अज्ञात वर्दीधारियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

दल में बड़े अधिकारी शामिल

मामले और क्षेत्र की संवेदनशीलता को देखते जिला प्रशासन ने पांच सदस्यीय जांच दल बनाया है, जिसमें सीईओ जिला पंचायत सहित एएसपी, एसडीएम, जिला शिक्षाधिकारी और गीदम तहसीलदार शामिल हैं। जांच दल ने पोटाकेबिन पहुंचकर छात्राओं से बयान लिया है। सूत्रों के मुताबिक सीआरपीएफ अपने स्तर पर मामले की जांच कर रही है। इस मामले में कोर्ट आफ इन्क्वायरी गठित करने की बात भी कही जा रही है।

इनका कहना है

मामले की जांच के लिए कमेटी का गठन कर लड़कियों का बयान लिया गया है। एफआईआर करवाई गई है। आरोपियों की पहचान के बाद कार्रवाई की जाएगी।

- सौरभ कुमार, कलेक्टर, दंतेवाड़ा

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.