Live Score

भारत 141 रन से जीता मैच समाप्‍त : भारत 141 रन से जीता

Refresh

जंगल में हुई मुठभेड़, नक्सली कैंप ध्वस्त, विस्फोटक और दवा बरामदUpdated: Mon, 09 Oct 2017 07:14 PM (IST)

कुआकोंडा ब्लॉक के जियाकोरता और कोरमागोंदी के जंगल फोर्स ने नक्सली कैंप में हमला बोला।

दंतेवाड़ा। कुआकोंडा ब्लॉक के जियाकोरता और कोरमागोंदी के जंगल फोर्स ने नक्सली कैंप में हमला बोला। हमले में नक्सली फायरिंग करते भाग निकले और कैंप से विस्फोटक और दवाइयां बरामद हुई है। कैंप में बड़े लीडर सहित 40 से 50 सदस्यों की मौजूदगी की बात पुलिस कह रही है। देर शाम तक जंगल में फोर्स और नक्सलियों के बीच फायरिंग जारी थी।

बड़े नक्सली नेताओं की मौजूदगी की सूचना पर दंतेवाड़ा और सुकमा जिले की फोर्स कुआकोंडा ब्लॉक जियाकोरता-कोरमागोंदी जंगल पर सर्चिंग पर निकली थी। 7 अक्टूबर से जंगल में खाक छान रहे जवानों को सोमवार की सुबह नक्सलियों को कैंप नजर आया।

जहां धावा बोला गया लेकिन नक्सली फायरिंग करते वहां से भाग निकले। फोर्स उनका लगातार पीछा कर रही है। इसकी पुष्टि करते नक्सल आपरेशन एएसपी जीएन बघेल ने बताया कि नक्सलियों के कैंप से बड़ी मात्रा में विस्फोट, दवा और दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद हुई है। अधिकारी का दावा है कि कैंप में नक्सली नेता देवा सहित अन्य की मौजूदगी थी। जो क्षेत्र के जंगल में लगातार जगह बदल रहे हैं।

भीतर से मिल रही इनपुट पर दंतेवाड़ा और सुकमा से सीआरपीएफ, डीआरजी, एसटीएफ और थाने की टीम दोनों से उन्हें घेरने 7 अक्टूबर को निकली थी। सोमवार की सुबह टीम ने जंगल में दो कैंप देखा और घेराबंदी शुरु कर दी। फोर्स जब कैंप के करीब पहुंची तो नक्सली खुद को बचाते वहां से भाग निकले। फोर्स लगातार उनका पीछा कर रही है। समाचार लिखे जाने तक दोनों ओर से फायरिंग की सूचना आ रही थी लेकिन किसी के हताहत की खबर नहीं है।

नई तकनीक का प्रेशर बम मिला

जियाकोरता-कोरमागोंदी जंगल में नक्सली कैंप से इस बार अन्य सामग्री के साथ एक नए तकनीक का प्रेशर बम मिला है। जिसे पाइप में विस्फोटक भरने के बाद हैंडिल टिफिन की तरह आकार दिया गया है। जहां स्क्रू और लोहे की पट्टियों के सहारे स्प्रिंग लगाई गई है। फिलहाल पुलिस अधिकारी इस नई तकनीक के बम का परीक्षण-अवलोकन कर रहे हैं। इसके अलावा तीर बम, ट्रांजिस्टर, ईआईडी, रस्सी, स्वीच, इलेक्ट्रीक वायर, बारूद और बड़ी मात्रा में इंजेक्शन व दवाओं के साथ दैनिक उपयोगी की सामग्री बरामद हुई है। अधिकारी के अनुसार दैनिक उपयोग की सामग्री और दवाओं को जंगल में ही जला दिया गया है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.