दंतेवाड़ा जिले में 20 घंटे ठप रही बीएसएनएल सेवाUpdated: Mon, 07 Nov 2016 05:29 PM (IST)

दंतेवाड़ा जिले में बीएसएनएल की बोलती 20 घंटे से अधिक समय तक बंद रही।

दंतेवाड़ा। जिले में बीएसएनएल की बोलती 20 घंटे से अधिक समय तक बंद रही। रविवार अवकाश होने के बावजूद उपभोक्ता परेशान रहे और अन्य नेटवर्क का सहारा लिया। सोमवार की दोपहर सेवा बहाल होने से क्षेत्र के उपभोक्ताओं को राहत मिली। अधिकारियों के अनुसार तोंगपाल और किलेपाल में केबल कटने से दिक्कत आई थी। रविवार को रात होने से मरम्मत में देरी हुई।

रविवार की शाम करीब साढ़े पांच बजे बीएसएनएल की सेवा अचनाक ध्वस्त हो गई। पहले लोगों ने सोचा कि कुछ देर में बातचीत और इंटरनेट चलना शुरु होगा। लेकिन घंटे-दो इंतजार के बाद लोगों की परेशानी शुरु हो गईं। फोन पर बातचीत ही बंद नहीं हुई। इंटरनेट और मोबाइल नेट डाटा भी ठप पड़ गया था। इससे उपभोक्तओं की परेशानी और बढ़ गई।

उपभोक्ता जरूरी बातचीत और डाटा ट्रांसफर के लिए कैफे की ओर दौड़ लगाए लेकिन वहां भी बीएसएनएस की सेवा उपलब्ध नहीं हो पाई। अन्य नीजि कंपनियों की सेवाए जरूरी बात और डाटा ट्रांसफर के लिए उपयोग किया। सोमवार को भी दोपहर करीब 12 बजे तक सेवा ठप रही है। इससे शासकीय कार्य भी कुछ समय के लिए बाधित रहा। दोपहर में जब फोन की घंटिया बजी तो लोगों को राहत मिली। लेकिन मोबाइल डाटा करीब एक बजे शुरु हुआ। इस बीच सैकड़ों डाटा जाम रहा।

अवकाश का नहीं मिला लाभ

रविवार अवकाश दिवस के साथ बीएसएनएल के लैंडलाइन में रात्रिकालीन सेवाओं में रियायत भी देता है। इसलिए लोग रविवार की शाम अधिक बातचीत अपने परिजनों से अधिक करते हैं। वैसे भी दंतेवाड़ा के अंदरूनी क्षेत्रों में बीएसएनएल की सेवाएं ही ज्यादा लोग लेते है। अन्य नेटवर्क अंदरूनी क्षेत्रों में काम नहीं करता। ऐसे भी अर्द्धसैनिक बलों के जवानों सहित शासकीय कर्मचारी ज्यादा परेशान थे। इधर सोमवार को भी दोपहर तक सेवा ठप रही। इससे शासकीय कार्य भी बाधित हुए।

तोंगपाल-किलेपाल में कटे थे केबल

स्थानीय बीएसएनएल कार्यालय के अनुसार रविवार की शाम 5.40 बजे सेवा ठप हुई थी। कार्यालयीन सूत्रों के अनुसार सुकमा जिले के तोंगपाल के अलावा बस्तर जिले के किलेपाल-बास्तानार के पास केबल कट गए थे। सूचना के बाद मैदानी अमला को फाल्ट ट्रेस करने में समय लग गया।

जब दोनों फाल्ट की जानकारी हुई तब तक रात हो गई थी। संवेदनशील एरिया होने के बावजूद मैदानी अमला रात में मौके पर पहुंचा और किलेपाल में देर रात तक केबल जोड़ने की कोशिश की गई लेकिन सक्सेस नहीं हो पाए थे। इसलिए सुबह सुकमा और बस्तर की टीम ने दोनों फाल्ट को ठीक करना शुरु किया और करीब 12 बजे लाइन दुरूस्त हो गई।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.