आरके नगर काम्पलेक्स के विरोध में ग्रामीणों ने घेरा निगम कार्यालयUpdated: Sat, 20 May 2017 04:04 AM (IST)

बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि राजकिशोर नगर चौक पर निगम की ओर से बनवाए जा रहे व्यावसायिक काम्पलेक्स के विरोध में लिंगियाडीह के ग्रामीणों ने शुक्रवार को विकास भवन कार्यालय का घेराव कर दिया। उनका आरोप है कि निगम ने पंचायत की जमीन पर बेजाकब्जा कर उनके निस्तारी के रास्ते को बंद कर दिया है। इससे वहां रहने वाले सैकड़ों परिवार प्रभावित

बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

राजकिशोर नगर चौक पर निगम की ओर से बनवाए जा रहे व्यावसायिक काम्पलेक्स के विरोध में लिंगियाडीह के ग्रामीणों ने शुक्रवार को विकास भवन कार्यालय का घेराव कर दिया। उनका आरोप है कि निगम ने पंचायत की जमीन पर बेजाकब्जा कर उनके निस्तारी के रास्ते को बंद कर दिया है। इससे वहां रहने वाले सैकड़ों परिवार प्रभावित होंगे।

लिंगियाडीह ग्राम पंचायत के उपसरपंच दिलीप पाटिल के नेतृत्व में ग्रामीण निगम के विकास भवन पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने निगम प्रशासन के खिलाफ पहले जमकर नारेबाजी की और उपायुक्त मिथिलेश अवस्थी को ज्ञापन सौंपते हुए आरके नगर चौक वाले काम्पलेक्स का निर्माण तत्काल रोकने की मांग की। उन्होंने बताया कि राजकिशोर नगर को बीडीए ने बसाया था। इसके बाद वर्ष 2005-06 में उसका विलय नगर निगम में कर दिया गया। तब न तो पंचायत और बीडीए की जमीन का सीमांकन कराया गया और न ही ग्रामीणों को इसकी जानकारी दी गई। राजकिशोर नगर चौक पर पंचायत को बिना विश्वास में लिए वहां रहने वालों को बेदखल करके काम्पलेक्स का निर्माण शुरू किया गया। वह अब तक अधूरा है। निगम ने दोबारा जब यहां काम शुरू कराया तो अब बगल में निस्तारी की जमीन को भी घेरना शुरू कर दिया है। इसमें सैकड़ों लोगों की निस्तारी है। उन्होंने वहां निर्माण कार्य तत्काल रोकने की बात कहते हुए निस्तारी बंद करने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। ज्ञापन सौंपने वालों में धीरज मुदलियार, यशोद पाटिल, सावित्री सिंह, उमेश्वरी यादव, आशा निषाद, सरस्वती, संतोषी, सोनिया, सुशीला आदि शामिल थे।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.