गाड़ी का माइलेज कम निकले तो विक्रेता की ऐसे बढ़ाएं मुसीबतUpdated: Tue, 14 Nov 2017 11:20 AM (IST)

साथ ही 3 हजार वाद व्यय समेत बिक्री रकम 15750 रुपए एक माह के अंदर लौटाने का आदेश दिया है।

बिलासपुर। विक्रेता ने प्रति लीटर 50 किलोमीटर माइलेज बताकर स्कूटर बेचा। जबकि 20 किलोमीटर प्रति लीटर ही माइलेज मिला। मामले में जिला उपभोक्ता फोरम ने विक्रता पर 25 हजार जुर्माना लगाया है। साथ ही 3 हजार वाद व्यय समेत बिक्री रकम 15750 रुपए एक माह के अंदर लौटाने का आदेश दिया है।

टिकरापार शिवाजी मार्ग शोभा भवन निवासी श्रीमती कामिनी अतुल स्वर्णकार पति अतुल कुमार ने 14 जनवरी 2011 को मगरपारा स्थित ऑटो सेंटर से महिन्द्र कंपनी का स्कूटर क्रमांक सीजी 10 ईएल 8626 खरीदा। विक्रेता ने प्रति लीटर 50 किलोमीटर माइलेज मिलने की बात कही।

स्कूटर चलाने पर प्रति लीटर 20 किलोमीटर ही माइलेज मिला। उन्होंने विक्रेता से शिकायत की। इस पर सुधार नहीं किया गया और न ही दूसरा वाहन दिया गया। उन्होंने जिला उपभोक्ता फोरम में वाद प्रस्तुत किया।

नोटिस के जवाब मे विक्रेता ने कहा कि दो पहिया वाहन का माइलेज सड़क की स्थिति व पेट्रोल की शुद्घता पर निर्भर करता है। स्कूटर में कोई तकनीकी खराबी नहीं है।

जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष अशोक कुमार पाठक, सदस्य प्रमोद वर्मा एवं रीता बरसैया ने सुनवाई में पाया कि विक्रेता ने सेवा में कमी की है। इस आधार पर विक्रेता को एक माह के अंदर स्कूटी वापस लेकर 15750 रुपए लौटाने, 25 हजार रुपए मानसिक क्षतिपूर्ति व 3 हजार वाद व्यय देने का आदेश दिया है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.