81 हजार 166 फर्जी किसानों के राशन कार्ड होंगे निरस्तUpdated: Mon, 30 Jan 2017 10:51 AM (IST)

पांच जिलों के 81 हजार 166 फर्जी किसानों के राशन कार्ड रद्द करने राज्य शासन ने फरमान जारी कर दिया है। ऐ

बिलासपुर, ब्यूरो। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक बिलासपुर के अंतर्गत आने वाले पांच जिलों के 81 हजार 166 फर्जी किसानों के राशन कार्ड रद्द करने राज्य शासन ने फरमान जारी कर दिया है। ऐसे किसानों की सूची ग्राम पंचायतों को उपलब्ध कराने कहा गया है। पंचायत स्तर पर राशन कार्ड निरस्त करने का काम किया जाएगा। उपलब्ध दस्तावेजों के आधार पर नईदुनिया ने 10 जनवरी के अंक में इस आशय की रिपोर्ट प्रमुखता के साथ प्रकाशित की थी।

इसमें जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अंतर्गत बिलासपुर, मुंगेली, जांजगीर-चांपा व कोरबा जिले की विभिन्न् समितियों में 81 हजार 166 किसानों के नाम पर 21 लाख 55 हजार 614 क्विंटल धान की बिक्री कर दी गई है। इसका खुलासा राशन कार्ड और आधार नंबर के मिलान के बाद हुआ है। ये ऐसे किसान हैं जिनके पास खेती लायक जमीन का टुकड़ा भी नहीं है। कलेक्टर अन्बलगन पी ने पांच जिलों में जांच का आदेश दिया था। खाद्य विभाग व जनपद पंचायत के अधिकारियों ने जांच शुरू की थी।

इस दौरान राशन कार्ड के डेटा बेस व आधार नंबर का मिलान किया गया तो इन फर्जी किसानों के नाम सामने आए। गौर करने वाली बात ये है कि ये सभी भूमिहीन किसान होने के साथ ही बीपीएल श्रेणी के हैं और इनके नाम मुख्यमंत्री खाद्यान्न् योजना के तहत राशन कार्ड जारी किया गया है। जांच रिपोर्ट में खुलासा होने के बाद कलेक्टर ने रिपोर्ट शासन को प्रेषित कर दिया था।

बड़े पैमाने पर मिले फर्जीवाड़ा को गंभीरता से लेते हुए राज्य शासन ने फर्जी किसानों के राशन कार्ड निरस्त करने का फरमान जारी कर दिया है। राशन कार्ड रद्द करने जारी निर्देश के साथ ही फर्जी किसान जिनके नाम राशन कार्ड है इनकी सूची ग्राम पंचायतों को सौंपने की हिदायत दी गई है। ग्राम पंचायत द्वारा राशन कार्ड रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी।

जांच के बाद फर्जी किसानों की सूची शासन के हवाले कर दी गई है। राज्य शासन ने ऐसे किसान जो बीपीएल कार्डधारक हैं उनका राशन कार्ड निरस्त करने फरमान जारी किया है। इनकी सूची ग्राम पंचायतों को भेजी जा रही है। -अभिषेक तिवारी, सीईओ, जिला

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.