जिन वाट्सएप ग्रुप में पुलिस के अफसर, उसी में मुखिया के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणीUpdated: Mon, 11 Sep 2017 12:07 AM (IST)

वाट्सएप पर पुलिस के अधिकारियों द्वारा गोमाता के नाम पर पैसे खाने का आरोप लगाने वालों से साक्ष्य मंगाने की बात कही है।

भिलाई। अपनी सख्त और ईमानदार छवि के लिए पहचाने जाने वाले पुलिस के मुखिया को लेकर अभद्र टिप्पणियां की गईं हैं। ये टिप्पणियां उन ग्रुप में चल रही हैं, जिनमें पुलिस प्रशासन के तमाम आला अधिकारी और जिले के कई थानेदार जुड़े हैं। चूंकि जिले का मुखिया एसपी होता है, इसलिए माना जा सकता है कि टिप्पणियां एसपी को निशाने पर लेकर की गई हैं। एसपी ने वाट्सएप पर चल रही टिप्पणी पर जांच की बात कही है।

पूरा मामला सुपेला थाना परिसर के पास से ट्रक चोरी का है। शुक्रवार की रात कोसानाला के पास सूचना पर पुलिस ने एक ट्रक पकड़ा था। वह ट्रक थाने की अभिरक्षा से पशुओं सहित गायब हो गया। इस मामले में पहले ही एएसपी शशिमोहन सिंह ने कड़ी कार्रवाई की बात कही है।

वहीं दिल्ली से भिलाई लौटते ही एसपी अमरेश मिश्रा ने ट्रक का पता बताने वाले को पांच हजार रुपए के इनाम की घोषणा की है। यह मामला अभी चल ही रहा था कि शनिवार की रात भिलाई के तीन वाट्सएप ग्रुप में एसपी पर गाड़ी गायब करा कर पैसा लेने का आरोप लगाया गया।

जिस वाट्सएप ग्रुप में इस प्रकार की तमाम बातें चल रही है। उसमें पुलिस के आला अधिकारी के अलावा बीजेपी-कांग्रेस के बड़े नेता जुड़े है। वाट्सएप ग्रुप में अभद्र टिप्पणी के बाद पुलिस अधिकारियों ने जांच शुरू की है। वाट्सएप पर पुलिस के अधिकारियों द्वारा गोमाता के नाम पर पैसे खाने का आरोप लगाने वालों से साक्ष्य मंगाने की बात कही है।

यह है मामला

सुपेला के कोसानाला के पास एक ट्रक रायपुर से पशुओं से भरकर आ रहा था। इस ट्रक में कुल 21 गाय-भैंस थीं। बजरंग दल व विहिप कार्यकर्ताओं ने ट्रक को पकड़ कर सुपेला पुलिस के हवाले किया। ट्रक थाने के बाहर पुलिस की अभिरक्षा में खड़ा था, लेकिन देर रात ट्रक गायब हो गया।

अपने विचार रखने के लिए सब स्वतंत्र हैं, लेकिन स्वतंत्रता का एक पैमाना है। किसी कि भावना आहत नहीं होनी चाहिए। अगर किसी ने आरोप लगाया है। साक्ष्य मंगाए जाएंगे। पशुओं की गाड़ी लेकर भागने वाले को पकड़ने के लिए पहले ही इनाम रखा गया है। - अमरेश मिश्रा, एसपी दुर्ग

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.