भूमिहीन किसान ने समर्थन मूल्य पर धान बेचा तो राशन कार्ड होगा निरस्तUpdated: Wed, 14 Dec 2016 11:52 PM (IST)

राज्य शासन ने भूमिहीन किसान व मजदूर के नाम पर सरकारी योजनाओं का लाभ लेने वालों के लिए लक्ष्मण रेखा खींच दी है। ऐसे हितग्राही अगर ऋण पुस्तिका के माध्यम से खरीदी केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर धान बेचते पाए जाएंगे तो उनकी सारी सुविधाएं एक झटके में छीन ली जाएंगी

बलौदाबाजार। राज्य शासन ने भूमिहीन किसान व मजदूर के नाम पर सरकारी योजनाओं का लाभ लेने वालों के लिए लक्ष्मण रेखा खींच दी है। ऐसे हितग्राही अगर ऋण पुस्तिका के माध्यम से खरीदी केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर धान बेचते पाए जाएंगे तो उनकी सारी सुविधाएं एक झटके में छीन ली जाएंगी यानी परिवार की महिला मुखिया के नाम पर जारी प्राथमिकता वाले राशन कार्ड रद्द कर दिए जाएंगे।

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की निगरानी में जिले के सभी 86 सहकारी समितियों में किसानों का धान समर्थन मूल्य पर खरीदी जा रही है। जिले की सीमाओं में स्थित खरीदी केन्द्रों पर विशेष नजर रखी जा रही है। किसानों को बिचैलिए और दलालों के चंगुल से बचाने के लिए राज्य शासन ने जरूरी गाइड लाइन जारी की है। बिचौलियों के साथ ही समर्थन मूल्य हड़पने की गरज से धान की अफरा-तफरी करने वालों पर भी प्रभावी अंकुश लगाने की कोशिश की जा रही है। आमतौर पर यह शिकायत मिलती है कि सीमांत व लघु किसान द्वारा ऋण पुस्तिका को कोचिए व दलालों को बेच देते हैं। इसके एवज में इनको कमीशन के रूप में भारी भरकम राशि मिलती है। इस पर भी अब निगरानी रखने का निर्णय लिया है। राज्य शासन ने धान की अफरा-तफरी कर केन्द्र व राज्य शासन की योजनाओं का लाभ उठाने वालों पर नजर रखना शुरू कर दिया है। ऐसे हितग्राही जो भूमिहीन की श्रेणी में अपने आपको रखते हुए योजनाओं का लाभ ले रहे हैं इन पर फोकस किया जा रहा है। इनके द्वारा अपनी पर्ची के माध्यम से धान बेचने या फिर किसी अन्य के जरिया बनने का खुलासा होते ही तत्काल इनकी सारी सुविधाएं बंद कर दी जाएंगी। सुविधा बंद करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। कुछ इसी तरह का फरमान लघु व सीमांत कृषकों के लिए भी जारी किया है। तय मापदंड से अधिक मात्रा में धान बेचते पाए जाने पर परिवार के मुखिया के नाम से जारी राशन कार्ड रद्द कर दिया जाएगा। भूमिहीन परिवार द्वारा इस तरह की गड़बड़ी करते पाए जाने पर इनका जॉब कार्ड जब्त कर निरस्त कर दिया जाएगा।

-------

राज्य शासन के निर्देशों के अनुसार प्रभावी कार्रवाई करने विभागीय अफसरों को हिदायत दी जाएगी। जल्द ही निर्धारित जगहों पर बैनर पोस्टर लगाए जाएंगे। खरीदी केन्द्रों में टीम बनाकर निगरानी करने कहा जाएगा।

-डॉ. बसवराजू एस., जिलाधीश, जिला-बलौदाबाजार-भाटापारा

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.