डिजिटल मोबाइल बैंकिंग से ग्राहक बढ़ाने की रणनीतिUpdated: Wed, 29 Mar 2017 08:48 PM (IST)

इस खाते से होने वाले सभी तरह के डिजिटल भुगतानों पर बैंक कोई शुल्क नहीं लेगा।

नितिन प्रधान, मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नोटबंदी के जरिये देश को डिजिटल इंडिया बनाने की दिशा में की गई आठ नवंबर, 2016 की घोषणा से प्रेरित होकर कोटक महिंद्रा बैंक ने 811 मोबाइल बैंकिंग ऐप की शुरुआत की है। इस ऐप की खासियत यह है कि ओटीपी और आधार नंबर की मदद से लोग मोबाइल फोन पर पांच मिनट में ही अपना बचत खाता खोल सकेंगे। इस खाते से होने वाले सभी तरह के डिजिटल भुगतानों पर बैंक कोई शुल्क नहीं लेगा।

इस अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस रखने की शर्त भी नहीं होगी। कोटक महिंद्रा बैंक के एक्जीक्यूटिव वाइस चेयरमैन व एमडी उदय कोटक ने इसका ऐलान किया। उन्होंने बताया कि ऐप पर खोले जाने वाले बचत खातों में भी छह फीसदी का ब्याज मिलेगा। किसी अन्य बैंक में फंड ट्रांसफर करने पर भी बैंक ग्राहकों से कोई शुल्क नहीं लेगा।

पीएम ने आठ नवंबर को देश को एक नई दिशा दिखाई थी। डिजिटल इंडिया की तरफ बढ़ते भारत में ग्राहकों को और आगे ले जाने की तरफ यह कदम महत्वपूर्ण होगा। कोटक ने कहा कि बैंक अपने इस ऑफर के जरिये आने वाले 18 महीनों में अपने ग्राहक आधार को दोगुना करना चाहता है। प्रत्येक तिमाही में इसकी समीक्षा की जाएगी।

फिलहाल कोटक महिंद्रा बैंक के 80 लाख ग्राहक हैं। शुरुआत में इस ऐप के जरिये देश भर में 700 स्थानों पर ग्राहकों को बैंकिंग सेवाएं दी जा सकेंगी। मोबाइल खातों से ग्राहक कर्ज लेने से लेकर बाकी सभी तरह की सेवाएं प्राप्त कर पाएंगे। बैंक ने 811 ऐप के तहत तीन तरह की सवाओं को मिलाया है।

पहला सामान्य बैंक खाता, दूसरा मोबाइल बैंकिंग और तीसरा मोबाइल वॉलेट। 811 ऐप पर ग्राहकों को ई-कॉमर्स की सुविधाएं भी मिलेंगी। कोटक महिंद्रा बैंक की तरफ से अन्य बैंकों के अधिग्रहण को लेकर चल रही अफवाहों को नकारते हुए कोटक ने कहा कि अभी ऐसा कुछ नहीं है और ये सिर्फ अटकलबाजी है।

जब भी बैंक इस आशय का कोई फैसला करेगा तो उसे सार्वजनिक किया जाएगा। कोटक महिंद्रा बैंक की शुरुआत वर्ष 2003 में हुई थी। इसके बाद 2015 में बैंक ने आईएनजी वैश्य बैंक का अधिग्रहण कर लिया था।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.