रुपए के गिरने से विदेश की हवाई यात्रा हुई महंगीUpdated: Wed, 26 Aug 2015 08:40 AM (IST)

रुपए की कीमत गिरने के कारण विदेशी हवाई यात्रा महंगी हो गई है।

नई दिल्‍ली। रुपए की कीमत गिरने के कारण विदेशी हवाई यात्रा महंगी हो गई है। ट्रैवल क्षेत्र के जानकारों का कहना है कि बढ़ता किराया और गिरती रुपए की कीमत का असर आगामी महीनों में पर्यटन को प्रभावित कर सकता है। गौरतलब है इन दिनों पढ़ाई के लिए पश्चिमी देशों में जाने वाले छात्रों की संख्या काफी अधिक होती है।

इसके साथ ही छुटि्टयों में विदेश घूमने की चाह रखने वाले मध्यमवर्गीय भारतीय परिवार के सपनों को भी ठेस लग सकती है। रिया ट्रैवल्स के बेनसन सैम्युअल ने कहा कि भारत से यूके और यूरोप का रिटर्न टिकट पिछले महीने करीब 51 हजार रुपए था अब यह करीब 68 हजार रुपए का है।

यह भी पढ़ें : हिंदू महिला के साथ घूम रहे मुस्लिम को नंगा किया

इसी तरह न्यूयॉर्क का रिटर्न टिकट जुलाई में 73 हजार और और शिकागो या वॉशिंगटन का रिटर्न टिकट 84 हजार रुपये था। अब इसकी कीमत क्रमश: 96 हजार और 91 हजार रुपए है। यह स्टूडेंट सीजन और रुपए के लगातार गिरने के कारण हुआ है। मॉरिशस से रिटर्न टिकट की कीमत भी 32 हजार से बढ़कर 40 हजार रुपए तक पहुंच गई है।

घरेलू और विदेशी दोनों एयरलाइंस ने इस मामले में कोई टिप्‍पणी नहीं की। मगर, घरेलू विमान कंपनियों का कहना है कि डॉलर की कीमत बढ़ने से ऑपरेटिंग कॉस्ट बढ़ जाएगी। इसमें एयरक्राफ्ट लीज किराया, रख-रखाव और ईंधन शामिल है व ये सभी चीजें सीधे तौर पर डॉलर से जुड़ी हैं।

यह भी पढ़ें : रेडियो पर सुनाई देगी रामायण, रिलीज करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

पर्यटन क्षेत्र के जानकारों का कहना है कि हर विकासशील देश की मुद्रा का अवमूल्यन हुआ है। ऐसे में भारतीय पर्यटकों के लिए थाईलैंड की यात्रा किफायती विकल्प साबित हो सकती है। टूरिस्ट पैकेजों के मामले में माना जाता है कि यदि रुपए में 5 फीसद की गिरावट आती है तो पश्चिमी देशों के पैकेज में 2.5 फीसद की बढ़ोतरी हो जाती है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.