आगर में 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ाए बैंक मैनेजर और कैशियरUpdated: Fri, 30 Jun 2017 05:22 PM (IST)

लोकायुक्‍त पुलिस ने आज एक बैंक मैनेजर और हेड कैशियर को रिश्‍वत लेते हुए रंगेे हाथों गिरफ्तार किया है।

आगर-मालवा। उज्जैन लोकायुक्त पुलिस ने शुक्रवार को छावनी स्थित पंजाब नेशनल बैंक के मैनेजर और कैशियर को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ दबोचा। 3 लाख रुपए के किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) बनाने के बदले किसान से 25 हजार रुपए मांगे गए थे। इसमें से 15 हजार रुपए पहले दिए जा चुके थे, जबकि 10 हजार रुपए का शुक्रवार को लेन-देन हो रहा था। करीब साढ़े 3 घंटे तक कार्रवाई चलती रही।

ग्राम आक्या के जगन्नाथ यादव ने 24 जून को लोकायुक्त उज्जैन एसपी गीतेश गर्ग से शिकायत की थी कि केसीसी बनाने के बदले बैंक के आगर शाखा का मैनेजर रमेशचंद्र जाट रिश्वत मांग रहा है। रिकॉर्डिंग सुनने के बाद शुक्रवार को लोकायुक्त टीम ने कार्रवाई की।

डीएसपी जनवेदसिंह जाटव और संजय जैन के नेतृत्व में टीम दोपहर 12.30 बजे बैंक पहुंची, जहां मैनेजर और कैशियर रोहित श्रीवास्तव को फरियादी जगन्नाथ सिंह से 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ दबोचा। दरअसर, मैनेजर जाट ने रिश्वत के रुपए कैशियर श्रीवास्तव को दिए थे। दोनों के हाथ धुलवाए गए तो हाथ गुलाबी हो गए। बाद में मुचलके पर जमानत दे दी गई। मैनेेजर जाट ने मीडिया को बताया कि सब कुछ झूठ है। मैंने किसी से रिश्वत नहीं मांगी। मुझे झूठा फंसाया गया।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.